Tech

Now Internet will run at 100 times faster speed than Wi-Fi in phones, OPPO will bring smartphone made of Wi-Fi technology | आप फोन पर वाई-फाई से 100 गुना ज्यादा तेज स्पीड में चला सकेंगे इंटरनेट, ओपो लाएगी लाई-फाई टेक्नोलॉजी से बना स्मार्टफोन

Now Internet will run at 100 times faster speed than Wi-Fi in phones, OPPO will bring smartphone made of Wi-Fi technology | आप फोन पर वाई-फाई से 100 गुना ज्यादा तेज स्पीड में चला सकेंगे इंटरनेट, ओपो लाएगी लाई-फाई टेक्नोलॉजी से बना स्मार्टफोन

  • Hindi News
  • Tech auto
  • Now Internet Will Run At 100 Times Faster Speed Than Wi Fi In Phones, OPPO Will Bring Smartphone Made Of Wi Fi Technology

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

ओपो ने हाल ही में फोन के लिए पेटेंट तैयार किया है जो लाइट-सेंट्रिक कनेक्टिविटी सपोर्ट करता है।

  • हाई स्पीड इंटरनेट को लेकर स्मार्टफोन कंपनियां लगातार इनोवेशंस कर रही है
  • लाई-फाई एक ऐसी स्पेशल तकनीक है, जिसमें डेटा ट्रांसफर लेड्स की मदद से होता है

आपको फोन पर कोई ऐप्स इंस्टॉल करना हो, मेल चेक करना हो, गूगल पर सर्च करना हो इन सभी के लिए इंटरनेट की आवश्यकता होती है। स्मार्टफोन का बेहतर इस्तेमाल तभी किया जा सकता है, जब उस पर इंटरनेट चलाया जाए। हाई स्पीड इंटरनेट का इस्तेमाल जरूरत बन गया है। हाई स्पीड इंटरनेट को लेकर स्मार्टफोन कंपनियां लगातार इनोवेशंस कर रही है। इसी के मद्देनजर अब चाइनीज ब्रान्ड ओपो अपने फ्यूचर स्मार्टफोन्स में लाइट फिडेलिटी यानी लाई-फाई (Li-Fi) टेक्नोलॉजी दे सकता है।

फोन के लिए तैयार किया गया पेटेंट

रिपोर्ट्स आ रही हैं कि कंपनी Li-Fi तकनीक के साथ अपना फोन लाने वाली है। ओपो ने हाल ही में फोन के लिए पेटेंट तैयार किया है जो लाइट-सेंट्रिक कनेक्टिविटी सपोर्ट करता है। बता दें कि इस तकनीक को आए कई वर्ष हो गए हैं, लेकिन किसी ने भी इसकी क्षमता पर वास्तव में काम नहीं किया है। अब ओपो इसे एक शॉट देना चाह रहा है।

जानिए, लाई-फाई तकनीक के बारे में…

लाई-फाई एक ऐसी स्पेशल तकनीक है, जिसमें डेटा ट्रांसफर लेड्स की मदद से होता है। खास बात यह है कि लाइट सोर्स के काफी डिम होने पर भी Li-Fi टेक काम करता है और लाइट इतनी डिम हो जाती है कि इंसानी आंखों से दिखाई नहीं देती। जिस कारण इसे वाई-फाई से ज्यादा सुरक्षित माना जाता है। वाई-फाई मॉडेम से बिलकुल अलग, ये बाहर की तरफ लगाए जाते हैं।

आईटी मंत्रालय ने 2018 में लाई-फाई का टेस्ट किया था

भारत में, इलेक्ट्रॉनिक और आईटी मंत्रालय ने 2018 में लाई-फाई का टेस्ट किया था। यह तकनीक 1 किमी प्रति घंटे के दायरे में 10GB प्रति सेकंड की गति के रूप में संचार करने के लिए LED बल्ब और लाइट स्पेक्ट्रम का उपयोग करती है। यह विचार देश के कठिन क्षेत्रों को जोड़ने के लिए आया था, जो फाइबर तक नहीं पहुंच सकते, हालांकि इन क्षेत्रों में बिजली है।

0

Source link

Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Most Popular

To Top